सचिन तेंदुलकर और उनके प्रशंसकों के लिए 27 मार्च का दिन है बेहद खास
सचिन तेंदुलकर और उनके प्रशंसकों के लिए 27 मार्च का दिन है बेहद खास
27, Mar 2018,05:03 PM
ANI,

पूर्व महान भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और उनके प्रशंसकों के लिए 27 मार्च का दिन बेहद खास है...आज से करीब 24 साल पहले क्रिकेट के भगवान माने जाने वाले सचिन तेंदुलकर के करियर में बड़ा मोड़ आया था...27 मार्च 1994 को न्यूजीलैंड के खिलाफ ऑकलैंड में खेले गए वनडे मैच में सचिन तेंदुलकर ने ओपनिंग की...वो अपनी इस नई पोजीशन पर सफल भी रहे है... जी हां, 1989 में करियर शुरु करने वाले सचिन तेंदुलकर को टीम में ओपनिंग करने का मौका 1994 में तत्कालीन ओपनर बल्लेबाज़ नवजोत सिंह सिद्दू के इंजर्ड होने के कारण मिला था... सिद्धू के इंजर्ड होने के कारण तत्कालीन कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने तेंदुलकर से पारी की शुरुआत करवाने का फैसला लिया..पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड की टीम भारतीय गेंदबाजों के सामने ज्यादा देर तक टिक नहीं पाई  और उसने 142 रन पर ही अपने घुटने टेक दिए थे... भारतीय टीम लक्ष्य का पीछा करने उतरी... इस मैच में सचिन अजय जडेजा के साथ पहली बार बतौर ओपनर उतरे थे... जडेजा भले ही 18 रन बना सके, लेकिन नए ऑर्डर पर आने पर सचिन का बल्ला खूब चला और उन्होंने महज 49 गेंदों में 82 रन की आक्रामक और मैराथन पारी खेली... सचिन ने 167.34 की स्ट्राइक रेट से रन बनाना शुरू किया और अपनी लाजवाब पारी में 15 चौके और 2 छक्के लगाए... टीम इंडिया ने 160 गेंद रहते ही लक्ष्य हासिल कर लिया है... तेंदुलकर के अलावा विनोद कांबली ने 21, कप्तान अजरूद्दीन ने नाबाद 12 और संजय मांजरेकर ने नाबाद 7 रन बनाए थे...बतौर ओपनर अपने पहले मैच में सचिन तेंदुलकर ने आक्रामक पारी खेली और इस मैच में आगे बढ़कर उन्होंने जिस अंदाज में बल्लेबाजी की थी, उसके बाद वो कभी नहीं रुके।

ये भी पढ़ें :

यूनियन किसान के लोगों ने अपने ट्रैक्टरों सहित डीएम कार्यालय पर दिया धरना

खबरें