मनीषा दयाल का लंबा-चौड़ा सियासी और खाकी कनेक्शन शक के घेरे में मनीषा
मनीषा दयाल का लंबा-चौड़ा सियासी और खाकी कनेक्शन शक के घेरे में मनीषा
13, Aug 2018,01:08 PM
TV100,

राजीवनगर के नेपालीनगर स्थित 'आसरा गृह' के दो संवासिनों की मौत मामले में चार पर एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस ने 'आसरा गृह' के संचालक सचिव चिरंतन कुमार और कोषाध्यक्ष मनीषा दयाल को गिरफ्तार किया है। रविवार देर रात मजिस्ट्रेट नीलू पॉल के बयान पर राजीवनगर थाने में एफआईआर की गई है।एफआईआर में चिरंतन कुमार और मनीषा दयाल के अलावा एक डॉक्टर और एएनएम का भी नाम है। दर्ज केस में बताया गया है कि संवासिनों के इलाज में लापरवाही बरती गई। पुलिस ने 'आसरा गृह' की कर्मी रेणु सिन्हा व अन्य दो को हिरासत में भी लिया है। उनसे भी पूछताछ की जा रही है। इधर, देर रात सीआईडी की टीम ने 'आसरा गृह' पहुंच कर जांच की है। वहीं डीएम और एसएसपी ने भी 'आसरा गृह' जाकर वहां के संवासिनों से बात की और उनका बयान लिया है।

मनीषा दयाल उर्फ मिलि, ग्लैमर और सियासी कनेक्शन-
मनीषा दयाल उर्फ मिलि, ग्लैमर और सियासी कलेक्शन। शुरुआती दौर से ही मनीषा का ग्लैमर से नजदीकी नाता रहा है। शुरू में उसने मॉडलिंग भी की। बाद में कई मॉडलिंग प्रतियोगिता करवाने में भी मनीषा का नाम सामने आया। खेल प्रतियोगिताओं में भी मनीषा की दिलचस्पी थी। मनीषा दयाल का लंबा-चौड़ा सियासी और खाकी कनेक्शन भी है। एक नेता उसके दूर के संबंधी बताये जाते हैं। जबकि पुलिस महकमे में भी मनीषा की अच्छी पहुंच है। बड़ी सिफारिश होने के कारण ही मनीषा के एनजीओ को आसरा गृह चलाने का काम मिला था। खबर यहां तक है कि आगे भी उसे कई बड़े काम मिलने वाले थे। बड़ी पैरवी का ही असर था कि चार लड़कियों के भागने की कोशिश करने के बावजूद मनीषा के एनजीओ के ऊपर एफआईआर दर्ज नहीं की गयी थी। जबकि उस रोज भी एनजीओ की लापरवाही सामने आयी थी।

 

ये भी पढ़ें :

बारिश के कहर से डूब रहा है, भारत

खबरें