कानपुर एसपी सुरेन्द्र दास की हालत हुई काफी गंभीर
कानपुर एसपी सुरेन्द्र दास की हालत हुई काफी गंभीर
08, Sep 2018,02:09 PM
TV100,

जिंदगी की जंग लड़ रहे एसपी पूर्वी सुरेंद्र दास की हालत में तीसरे दिन भी कोई सुधार नहीं हो सका। डॉक्टरों के मुताबिक शनिवार का दिन उनके लिए काफी अहम होगा। सल्फास खाने के 72 घंटे पूरे हो जाएंगे। इसके बाद शाम 4 बजे मुंबई से आई डॉक्टरों की टीम एक्मो मशीन हटाकर हार्ट और फेफड़े की क्षमता जांचेगी। इसी आधार पर काफी कुछ साफ होने की संभावना है। फिलहाल हालत गंभीर बनी हुई है। 

शुक्रवार दोपहर से उनको यूरिन पास नहीं हो रही थी जिसकी वजह से दो बार डायलिसिस की गई।
पारिवारिक कलह के चलते मंगलवार देर रात तीन बजे सुरेंद्र दास ने जहर खाकर खुदकुशी की कोशिश की थी। एक्मो मशीन से इलाज के बाद भी उनकी स्थिति नहीं सुधर पा रही है। शुक्रवार को रीजेंसी प्रशासन की ओर से जारी बुलेटिन में एसपी पूर्वी की स्थिति को गंभीर बताया गया। अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. राजेश अग्रवाल ने बताया कि सुरेंद्र दास के गुर्दे बचाने और लोड कम करने के लिए दो बार डायलिसिस की जा चुकी है। रात में एक और की जाएगी। उनको दो यूनिट ब्लड और प्लाज्मा चढ़ाया गया है।

उधर, एसपी पश्चिम संजीव सुमन ने बताया कि 72 घंटे बीतने के बाद एक्मो मशीन को हटाकर देखा जाएगा। इसके बाद हार्ट व फेफड़े के काम करने की स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

एसपी वेस्ट भी पहुंचे अस्पताल
एसपी पूर्वी के बैचमेट एसपी वेस्ट शुक्रवार को रीजेंसी अस्पताल पहुंचे। उन्होंने डॉक्टरों से बात करके एसपी पूर्वी का हाल जाना। उन्होंने रात तक उनके परिजनों से बात कर हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

48 घंटे से ज्यादा कोई नहीं गुजार पाया समय
डॉ. राजेश अग्रवाल ने बताया कि एसपी पूर्वी के लिए अभी भी आशा की किरण है। सल्फास खाने के बाद कोई भी इतना समय भी नहीं गुजार पाता है, वह 48 घंटे से अधिक बिता चुके हैं। 72 घंटे बीतने के बाद स्थिति स्पष्ट होनी शुरू हो जाएगी। मुंबई के डॉक्टर प्रणव ओझा के नेतृत्व में इलाज और मॉनीटरिंग चल रही है। 

संक्रमण बढ़ा, किसी को मिलने नहीं दिया गया
आईसीयू में भर्ती एसपी पूर्वी को संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। इसलिए डॉक्टरों ने शुक्रवार को किसी को भी उनसे मिलने नहीं दिया। परिजनों से लेकर पत्नी सभी को बाहर ही रखा गया गया है। सिर्फ डॉक्टरों की मानीटरिंग चल रही है। राजेश अग्रवाल ने बताया कि एसपी की स्थिति क्रिटिकल है। इसलिए उनको संक्रमण से बचाने के लिए ऐसा फैसला लिया गया है। 

लीवर व गुर्दे पर लोड बढ़ा
एसपी पूर्वी के लीवर और गुर्दे पर लोड बढ़ गया है जिससे लैक्टेट बढ़ा है। आम तौर पर लिवर की खराबी पर प्लाज्मा देना जरूरी होता है। एक्मो मशीन के जरिए हार्ट व फेफड़े को आराम दिया गया है। अब वह प्राकृतिक रूप से काम कर रहे हैं कि नहीं इसे देखा जाएगा। 

ये भी पढ़ें :

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी जारी

खबरें