भारत पाकिस्तान के  सीमा पर अब इलेक्ट्रॉनिक अदृश्य दीवार आतंकियों की घुसपैठ पर लगेगी लगाम
भारत पाकिस्तान के  सीमा पर अब इलेक्ट्रॉनिक अदृश्य दीवार आतंकियों की घुसपैठ पर लगेगी लगाम
17, Sep 2018,05:09 PM
tv100,

भारत पाकिस्तान के  सीमा पर अब 'इलेक्ट्रॉनिक अदृश्य दीवार', आतंकियों की घुसपैठ पर लगेगी लगाम

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू-कश्मीर में देश के पहले स्मार्ट फेंसिंग पायलट प्रोजेक्ट का उद्घाटन किया है. भारत-पाकिस्तान सीमा पर 5 किलोमीटर के इलाके में नए सिस्टम को लगाया गया है. यह काफी हाईटेक है. 
सीमा पर हर हरकत की रिपोर्ट कंट्रोल रूम में आएगी. केंद्र सरकार ने भारत-पाकिस्तान के बॉर्डर को इजरायल की तर्ज पर सुरक्षित करने का काम पिछले साल शुरू किया था. इसी के तहत नया सिस्टम डेवलप किया गया है.
कंप्रीहेंसिव इंटीग्रेटेड बॉर्डर मैनेजमेंट सिस्टम एक अदृश्य दीवार की तरह काम करेगा. जमीन पर ऑप्टिकल फाइबर सिस्टम, पानी के रास्तों में सेंसर युक्त सोनार सिस्टम और हवा में हाई रेजोल्यूशन कैमरा व एयरोस्टेट कैमरा दुश्मन की हर चाल पर नजर रखेंगे.हाईटेक तकनीक की मदद से सिस्टम कंट्रोल रूम को जानकारी देंगे. इसके बाद किसी खतरे की स्थिति में क्विक रिएक्शन टीम मौके पर पहुंच जाएगी. 
पायलट प्रोजेक्ट के बाद भारत-पाक की 700 किमी लंबी सीमा पर हाईटेक सुरक्षा की व्यवस्था की जाएगी. नए बॉर्डर मैनेजमेंट सिस्टम के तहत सैनिकों को हमेशा पर सीमा पर रुककर सुरक्षा करने की जरूरत नहीं होगी. 

ये भी पढ़ें :

रेलवे क्रॉसिंग गेट नहीं खोलने पर काट दिये हाथ पैर

खबरें