चुनाव के चलते दलों का वार-पलटवार हुआ तेज 
चुनाव के चलते दलों का वार-पलटवार हुआ तेज 
29, Oct 2018,02:10 PM
, Himachal pradesh

चुनावी मौसम में भाजपा और कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सरकारों ने हमले तेज कर दिए है। प्रदेश कांग्रेस ने भाजपा के सांसदों से पिछले साढ़े चार साल का हिसाब माँगा है। कांग्रेस ने भाजपा के सांसदों से पूछा है कि वे जनता को बताये की संसद ने अब तक अपने लोकसभा क्षेत्र में क्या क्या काम किया है और सांसद निधि से कंहा कितना पैसा खर्च किया है इसका हिसाब प्रदेश की जनता के सामने रखे। कांग्रेस प्रदेश महासचिव और प्रवक्ता नरेश चौहान ने कहा है कि भाजपा के सांसद पिछले साढ़े चार में प्रदेश में विकास काम करवाने का दावा कर रहे हैं। अब सासंद बताएं कि आदर्श गाँव योजना के तहत गोद लिए गए गाँव में से कितने गाँव का विकास हुआ है।  हकीकत तो यह है कि गाँव की हालात पहले जैसी ही है। भाजपा ने केवल लोगो को झूठे सपने दिखाए है जिसका आगामी लोकसभा चुनाव में जनता जवाब देगी।

वंही भाजपा ने भी कांग्रेस के इस वार पर तीखा प्रतिक्रिया दर्ज कराते हुए कहा कि कांग्रेस जैसी भर्ष्टाचारी पार्टी का हिसाब मांगने का कोई औचित्य ही नहीं बनता है। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष गणेश दत्त ने कहा कि कांग्रेस के समय में उनके प्रधानमंत्री राजीव गाँधी कहते थे कि वे केंद्र से 1 रूपया राज्यों के विकास कार्यो के लिए भेजते थे जिसमे से 15 पैसे गाँव के लोगो तक पहुँचते थे। तो कांग्रेस बताये कि 85 पैसे कौन कांग्रेसी खा जाते थे। पहले कांग्रेस लोगो को 60 साल का हिसाब दे उसके बाद भाजपा के सांसदों से साढ़े चार साल का हिसाब मांगे। भाजपा के सांसदों की सांसद निधि के पैसे की मोनिटरिंग प्रधानमंत्री कार्यलय खुद करता है। भाजपा के सांसद प्रदेश के गाँव में विकास कार्य के लिए पैसे खर्च कर रहे है। भाजपा आगामी लोकसभा चुनाव में जनता को एक-एक पैसे का हिसाब देगी और एक बार फिर से केंद्र में मोदी की सरकार बनाएगी।

ये भी पढ़ें :

दंबगों ने महिलाओं को पीटा खङी देखती रही पुलिस

खबरें