राम मंदिर : शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, हमारी ललकार के बाद सो कर जाग गए मोदी
राम मंदिर : शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, हमारी ललकार के बाद सो कर जाग गए मोदी
26, Nov 2018,12:11 PM
tv100,

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के परिवार समेत अयोध्या से लौटने के अगले दिन ही मुखपत्र 'सामना' के जरिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर निशाना साधा गया है. साथ ही अयोध्या में उद्धव के जोरदार स्वागत की भी तारीफ की गई है. मुखपत्र में कहा गया है कि उद्धव ठाकरे के अयोध्या दौरे से राम मंदिर को लेकर बीजेपी पर दबाव बना है. पहली बार प्रधानमंत्री तक ने राम मंदिर मुद्दे पर अपना बयान दिया है.

हमारे अयोध्या दौरे से एक काम जरूर हुआ है कि राम मंदिर के सवाल पर जो सोए थे उन्होंने करवट नहीं बदली है लेकिन आंख खुल गई है.'

जुमलेबाजी नहीं चलेगी
राम मंदिर के बारे में जुमलेबाजी और गपबाजी नहीं चलेगी, इसका अहसास सबको हो गया है. पता चला है कि प्रधानमंत्री मोदी ने राजस्थान की प्रचार सभा में कहा है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण करना है, लेकिन कांग्रेस पार्टी इस मामले में चल रही अदालती प्रक्रिया में हस्तक्षेप कर रही है.

इस तरह की रुकावटें तथा मुसीबतों का पहाड़ा पढ़ने के लिए आपको सत्ता नहीं सौंपी है. राम मंदिर में कांग्रेस का और उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की रुकावटें थीं, इसीलिए तो लोगों ने उन्हें सत्ता से बेदखल कर भाजपा की सत्ता लाई गई. इसलिए अब कांग्रेस पर ठीकरा फोड़ना बंद करो. 

राम मंदिर पर चुप्प हैं
मोदी को मंदिर का निर्माण करना है पर कांग्रेस की रुकावट है. कांग्रेस की रुकावट रहते हुए भी नोटबंदी की बाबरी बनाई न? कांग्रेस की रुकावट होते हुए भी जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती के साथ सरकार की स्थापना की थी न? कई बार कांग्रेस को तोड़कर और सुलाकर रुकावटें दूर की गर्इं. फिर राम मंदिर में रुकावट क्या है? मंदिर सरकार को ही बनाना है और कानून के दायरे में रहकर बनाना है, ऐसा भाजपा ने अपने एजेंडा मतलब घोषणापत्र में कहा था.

सामना में लिखा है कि अब हमारी अयोध्या की ललकार के बाद राजस्थान की प्रचार सभा में तो प्रधानमंत्री मोदी ने राम मंदिर का उल्लेख किया. चलो, इतने वर्षों बाद मोदी के मुंह से राम मंदिर का कम-से-कम उच्चार तो हुआ. हमारी अयोध्या यात्रा सफल हुई. वे उठ गए, वे जाग गए.

ये भी पढ़ें :

खबरें