नेपाल में भारतीय तीर्थयात्रियों से दुव्र्यवहार करते हुए उपद्रवियों ने बसे फूंकी
नेपाल में भारतीय तीर्थयात्रियों से दुव्र्यवहार करते हुए उपद्रवियों ने बसे फूंकी
12, May 2018,02:05 PM
ANI,

नेपाल में भारतीय तीर्थयात्रियों से दुव्र्यवहार करते हुए उपद्रवियों ने शुक्रवार सुबह नेपाल के बर्डघाट इलाके में बस फूंक दी। जान बचाकर शनिवार को किसी तरह सोनौली बार्डर होते हुए नौतनवां पहुंचे महाराष्ट्र के लातूर निवासी तीर्थयात्रियों ने पुलिस को घटना के बारे में बताया। नौतनवां सीओ धर्मेन्द्र यादव ने उच्चाधिकारियों को घटनाक्रम की जाकारी दी। लातूर के डीएम से संपर्क कर सभी यात्रियों को वापस भेजने का प्रबंध शुरू किया गया है। 

यह घटना ऐसे समय में हुई है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेपाल से संबंधों को मजबूत करने जनकपुर व मुक्तिधाम पहुंचे हैं। नौतनवां पुलिस ने नेपाल की बेलहिया पुलिस से शिकायत दर्ज कराते हुए पूरे प्रकरण की जांच की मांग कर उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

बर्डघाट में खराब हो गई थी बस : महाराष्ट्र के लातूर जिले से गुरु कृपा ट्रैवेल एजेंसी की बस तीर्थयात्रियों को लेकर 10 मई को नौतनवां से पशुपतिनाथ के लिए रवाना हुई थी। इस बीच बस नेपाल के नवलपरासी जिले के बर्डघाट में खराब हो गई। बस को वहीं खड़ी कर परिचालक दल के सदस्य बस से संबंधित सामान खरीदने सोनौली आए। 47 यात्री बर्डघाट के एकता लॉज में ठहर गए। पांच यात्री सामान की रखवाली के लिए बस में ही रुके रहे। इसी दौरान कुछ उपद्रवी बस के पास पहुंचे और पथराव शुरू कर दिया। उसके बाद बस में आग लगा दी। वहां किसी तरह यात्रियों ने अपनी जान बचाई। शनिवार को नौतनवां लौट सके और पुलिस को जानकारी दी। 

नेपाल पुलिस ने तीन सदस्यों को रोका : घटना के बाद बर्डघाट पुलिस ने बस चालक संदीप, कंडक्टर सुरेश और कुक विशाल को वहीं रोक लिया। ट्रैवल एजेंसी के मैनेजर महादेव मोहिते ने बताया कि पुलिस ने ट्रैेवेल एजेंसी के मालिक को तलब किया है। उसके पहुंचने के बाद ही तीनों सदस्यों को रिहा करने की बात कही गई है। 

भारत-नेपाल की सोनौली सीमा पर यात्रियों के पहुंचने पर महराजगंज पुलिस ने दो दिनों से भूखे-प्यासे तीर्थ यात्रियों के भोजन की व्यवस्था की। उन्हें घर वापस भेजने का प्रबंध भी शुरू किया।

ये भी पढ़ें :

चुनाव अधिकारियों के अनुसार , दोपहर 3 बजे तक 56 फीसदी वोटिंग

खबरें