देहरादून की इस हालत का जिम्मेदार कौन
देहरादून की इस हालत का जिम्मेदार कौन
16, May 2018,05:05 PM
ANI,

सफाई पसंद लोगों के इस शहर में गंदगी के ढेर लग गए हैं। स्वच्छ भारत का नारा यहां मुंह चिढ़ा रहा है। समस्या के निदान के लिए ठोस पहल का अभाव नजर आ रहा है। अब हड़ताली कर्मचारियों को हटाने की कार्रवाई शुरू हुई है, मगर सफाई के वैकल्पिक इंतजाम नहीं हो सके। नगर निगम कुछ खास नहीं कर पाया। एनजीओ और सफाई के प्रोजेक्ट चलाने वाले भी इन दिनों नदारद हैं। सफाई कर्मचारी अपनी मांग पर अड़े हैं। नगर निगम और सरकार का अपनी डफली अपना राग है। ऐसी सूरत में किसको मानें जिम्मेदार? 

निगम ने 164 हड़ताली कर्मचारी हटाए  

पिछले नौ दिनों से चली आ रही हड़ताल को लेकर अब जाकर नगर निगम प्रशासन ने हड़ताली कर्मचारियों पर कार्रवाई की। नगर आयुक्त के आदेश पर नाला गैंग के 120 कर्मचारियों को हटाने के साथ ही नाइट स्वीपिंग में काम पर न आने वाले 44 कर्मचारियों को भी हटा दिया गया है।  निजी काम से कई दिनों से छुट्टी में चल रहे नगर आयुक्त ने बुधवार को कार्यभार संभाला और सफाई कार्य के लिए खुद मैदान में उतरे।  प्रशासन की टीम ने सोमवार रात दो बजे से लेकर सुबह चार बजे तक अभियान चलाया। हड़ताल पर प्रशासन के रुख को देखते हुए नाइट स्वीपिंग में लगे 75 कर्मचारियों में से 31 कर्मचारी काम पर लौट आए हैं। इसकी पुष्टि अपर नगर आयुक्त नीरज जोशी ने की। प्रशासन के आला अधिकारियों व पुलिस की मौजूदगी में परेड मैदान, म्यूनिस्पल रोड, कान्वेंट रोड आदि से 140 टन कूड़ा उठवाया गया।  नगर निगम ने एनजीओ से सहयोग मांगा है। रात को 8 बजे सफाई कर्मचारी यूनियन की नगर आयुक्त से बात हुई। नगर आयुक्त ने आश्वासन दिया कि कल में इस मामले मे सचिव से बात करेंगे। 

ये भी पढ़ें :

LIVE: कुमारस्वामी को CM बनाने राजभवन पहुंचे 113 विधायक, अब जाएंगे रिजॉर्ट

खबरें