भोपाल में एक पिता ने पहले अपनी दो बेटियों की गला घोंटकर खुद भी लगा ली फंसी
भोपाल में एक पिता ने पहले अपनी दो बेटियों की गला घोंटकर खुद भी लगा ली फंसी
14, Dec 2018,01:12 PM
Edited BY: Aarti Singh,

मध्य प्रदेश के भोपाल में एक पिता ने पहले अपनी दो बेटियों की गला घोंटकर हत्या कर दी और उसके बाद खुद भी फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। बताया जा रहा है कि 34 वर्षीय युवक आर्थिक तंगी से जूझ रहा था। यह घटना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से सटे गुनगा थाना क्षेत्र के मनीखेड़ी गांव की है। भगवान उर्फ भगवत सिंह घोसी ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें लिखा है, 'मैं अब जिंदगी से हार चुका हूं। मुझ पर कई लोगों की उधारी हो चुकी है। मैंने अपने एक रिश्तेदार को पैसे दिए थे, जो करीब तीन लाख रुपये बनता है, लेकिन वह दे नहीं रहे हैं। अब मेरी हालत ऐसी नहीं कि अपने तीनों बच्चों को पाल सकूं। पत्नी की हालत भी ऐसी नहीं है कि मेरे मरने के बाद वह तीनों बेटियों को पाल सके। इसलिए मैं अपनी दो बेटियों के साथ आत्महत्या कर रहा हूं।' 

जानकारी के मुताबिक, युवक मजदूरी का काम करता था। वह करीब 4 साल पहले भोपाल आया था, जबकि उसके दो भाई अर्जुन और जुगल औबेदुल्लागंज में रहते हैं। वह अपनी पत्नी ज्योति और तीन बेटियों टुकटुक (8), रानी (5) और गुंजन (2) के साथ यहां रहता था। बुधवार को उसका छोटा भाई अर्जुन भी भोपाल आया था। गुरुवार को वो भगवान की पत्नी यानी कि अपनी भाभी और भतीजी टुकटुक के साथ अस्पताल चला गया। दरअसल, टुकटुक के पैर में फ्रैक्चर हो गया था। दोपहर तीन बजे के आसपास जब वो घर लौटे तो देखा कि घर में कोई नहीं था, लेकिन टीवी चल रहा था। 

इसके बाद वो ऊपर का कमरा देखने चले गए, लेकिन जैसे ही दरवाजा खोला, उनके तो होश ही उड़ गए। भगवान फांसी के फंदे पर लटके हुए थे, जबकि दोनों बेटियां रानी और गुंजन का शव बेड पर पड़ा हुआ था। ये देखते ही घर में चीख-पुकार मच गई। इस बीच पुलिस को भी सूचना दी गई। छानबीन करने पर पुलिस को सुसाइड नोट मिला, जिसमें दोनों बेटियों की हत्या और आत्महत्या का जिक्र किया गया था।  

ये भी पढ़ें :

खबरें