पेंट फैक्ट्री का अमानवीय चेहरा, मजदूर को गंभीर हालत मे दरवाजे पर छोड़ा
पेंट फैक्ट्री का अमानवीय चेहरा, मजदूर को गंभीर हालत मे दरवाजे पर छोड़ा
07, Jun 2018,03:06 PM
Uttar Pradesh, Edited By Shubham Rajput,

कानपुर देहात के जैनपुर की नेरोलैक पेंट फैक्ट्री मे सुरक्षा के मानकों को ताक पर रखकर मजदूरों से काम कराने का मामला तब सामने आया, जब मिक्सर में केमिकल डालते समय आग लग गई और उस आग की लपटों से मौके पर काम कर रहा एक मजदूर बुरी तरह झुलस गया। वही इसमे कंपनी प्रशासन का भी अमानवीय चहरा सामने आया है।
देश मे कई कंपनीयां ऐसी है जो अपने मजदूरों की जान को ताक पर रखकर उनसे काम लेते है, ना ही उनकी सुरक्षा कोई इंतजाम होता है, ना ही हादसा होने पर कोई जिम्मेदारी।
नेरोलैक पेंट फैक्ट्री मे करीब 2:30 बजे दोपहर को कंपनी के केमिकल मिक्सर में ज्यादा टेंपरेचर के चलते अचानक आग लग गई। आग इतनी ज्यादा थी कि वहां पर काम कर रहे मजदूरों में भी अफरा तफरी मच गई और मिक्सर पर काम कर रहा मजदूर अजय सिंह बुरी तरह झुलस गया। जिसके बाद फैक्ट्री प्रबंधन के कर्मचारियों ने घायल मजदूर को गुपचुप तरीके से मजदूर के घर छोड़ कर भाग निकले। वही पूरे मामले की शिकायत घायल मजदूर के परिजनों ने पुलिस से एक शिकायती प्रार्थना पत्र देकर की और मजदूर को अकबरपुर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती करवाया जहां उसका इलाज किया जा रहा है।
वही जब घायल मजदूर से इस बारे मे बात की तो उसने बताया की अगर फैक्ट्री प्रबंधन की तरफ से सुरक्षा मानको को लेकर सेफ्टी जेकेट और फुल हेलमेट दिया गया होता तो शायद आज ये हादसा नही होता और वहीं मिक्सर के टेम्प्रेचर को कम करने के लिए कोई भी मानक पूरे नही किये गये है।
वहीं इस घटना से जहां फैक्ट्री प्रबंधन के सुरक्षा के मानको की पोल खुल गई है, वहीं फैक्ट्री प्रबंधन के कर्मचारियों का अमानवीय चेहरा भी सामने आ गया है। 

ये भी पढ़ें :

भ्रष्टाचार के खिलाफ सीएम योगी ने लिया कड़ा एक्शन, दो जिलों के डीएम निलंबित

खबरें