भ्रष्टाचार के खिलाफ सीएम योगी ने लिया कड़ा एक्शन, दो जिलों के डीएम निलंबित
भ्रष्टाचार के खिलाफ सीएम योगी ने लिया कड़ा एक्शन, दो जिलों के डीएम निलंबित
07, Jun 2018,04:06 PM
Uttar Pradesh, Edited By Shubham Rajput, Uttar pradesh

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी  ने गुरूवार को भ्रष्टाचार के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया है। भ्रष्टाचार के आरोप सिद्ध होते ही सीएम योगी ने गोंडा और फतेहपुर के डीएम को निलंबित कर दिया है। पिछले दो दिनों में भी सीएम योगी की भ्रष्टाचार के खिलाफ योगी की ये दूसरी बड़ी कार्रवाई है। मुख्यमंत्री ने गोंडा के डीएम जेबी सिंह, फतेहपुर के डीएम प्रशांत कुमार को निलंबित किया। बताया जा रहा है कि दोनों डीएम पर भ्रष्टाचार करने का आरोप था। जेबी सिंह को खाद्यान अनियमितता और प्रशांत को सरकारी जमीन गलत तरीके से निजी व्यक्ति को देना का आरोप था। ऐसा पहली बार हुआ है कि जब दो डीएम एक साथ निलंबित हुए है।
एक दिन पहले भी मंत्री अनुपमा जायसवाल के दो निजी सचिवों को भी को भी हटाया गया था क्योकि अनुपमा जायसवाल के जिम्मे बाल विकास और पुष्टाहार मंत्रालय है और इनके सचिवों पर बार बार ट्रांसफर पोस्टिंग के आरोप थे। उपचुनावों में हार के बाद योगी आदित्यनाथ ने भी भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी मुहिम तेज कर दी है।
मिशन 2019 के लिए काम कर रही भाजपा सरकार अब देश के अंदर काम करने की सोच रही हैं। अपने 4 साल की उपलब्धियों को बताकर अब भाजपा सरकार जनता को अपनी तरफ करने की कोशिश में लगी हुई है। इस बार का टारगेट 2014 के चुनावों से भी बड़ा रखा गया है और उसे हासिल करने की हर मुमकिन कोशिश की जा रही है। इसी कोशिश को करते हुए संपर्क फॉर समर्थन अभियान चलाया गया है हलाकि अभी तक उसका कोई फायदा नज़र नहीं आया है। लेकिन भाजपा का दावा है कि 2019 में भी वो ही सरकार बनाएंगे।

ये भी पढ़ें :

क्या पूरा होगा मेस्सी के विश्व कप जीतने का सपना

खबरें