पूर्वोत्तर में जल प्रलय, अब तक 23 की मौत, बचाव कार्य जारी
पूर्वोत्तर में जल प्रलय, अब तक 23 की मौत, बचाव कार्य जारी
18, Jun 2018,11:06 AM
ANI,

उत्तर और पूर्वोत्तर भारत की ओर मॉनसून बढ़ रहा है। इसी के चलते उत्तर भारत के कई राज्यों में बारिश हुई। हवा में आर्द्रता आने से दिल्ली में धूल भरे मौसम से लोगों को राहत मिली। उधर, असम में बाढ़ से स्थिति और खराब हो गई है, इससे 6 जिलों में साढ़े चार लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। 23 लोगों की अभी तक मौत हो चुकी है। असम में बाढ़ से पांच और लोगों की मौत हो गई जबकि मणिपुर में एक व्यक्ति की जान चली गई।
असम के छह जिलों में बाढ़ से लगभग 4.5 लाख प्रभावित हुए हैं। असम राज्य आपदा प्रबंध प्राधिकरण के मुताबिक होजई, कर्बी आंगलांग पश्चिम, गोलाघाट, करीमगंज, हेलकांडी और कचरा जिलों में 4. 48 लाख लोग प्रभावित हुए हैं।
यहां बाढ़ से स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है। कल बाढ़ के कारण पांच लोगों को जान गंवानी पड़ी है। एनडीआरएफ की टीमें मौके पर मौजूद हैं और बचाव कार्य जारी है।
ब्रह्मपुत्र नदी अभी जोरहाट में निमातीघाट और कचार में एपी घाट में खतरे के निशान से ऊपर बढ़ रही है। धनसीरी जैसी अन्य नदियां भी कुछ स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। मणिपुर की इंफाल घाटी में बड़ी नदियों का जलस्तर घटना शुरू हो गया है। सिर्फ लिलोंग नदी चेतावनी के स्तर से कुछ ऊपर बह रही है।
आपदा प्रबंधन और पुनर्वास विभाग के अधिकारियों ने बताया कि लुंगलेई जिले में तलवंग और लांगकी नदी में जलस्तर घटने लगा है लेकिन 500 से ज्यादा परिवार विस्थापित हुए हैं।

ये भी पढ़ें :

आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन की शुरूआत

खबरें