कांग्रेस को झटका, मध्य प्रदेश में कांग्रेस-बीएसपी गठबंधन नहीं, अकेले लड़ेंगे 230 सीटों पर
कांग्रेस को झटका, मध्य प्रदेश में कांग्रेस-बीएसपी गठबंधन नहीं, अकेले लड़ेंगे 230 सीटों पर
18, Jun 2018,12:06 PM
ANI,

बीएसपी देश में भले ही कांग्रेस के महागठबंधन में शामिल हो, लेकिन मध्य प्रदेश में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव में अकेले उतरने का ऐलान कर कांग्रेस को झटका दे दिया है। मध्य प्रदेश बसपा के प्रदेश अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद अहिरवार ने रविवार को कहा कि कांग्रेस मध्य प्रदेश में गठबंधन को लेकर झूठा प्रचार कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के इस झूठे प्रचार से उनकी पार्टी को नुकसान हो रहा है। बीएसपी प्रदेश अध्यक्ष ने दावा किया कि प्रदेश में बीएसपी 50 से 55 सीटें जीतेगी। नर्मदा प्रसाद अहिरवार ने कहा, 'मुझे मीडिया से पता चला है कि कांग्रेस नेता कह रहे हैं कि आगामी विधानसभा चुनाव के लिए बीएसपी के साथ गठबंधन के लिए कांग्रेस की बातचीत चल रही है। मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि इस गठबंधन के संबंध में राज्य स्तर पर हमारी कोई बातचीत नहीं हो रही है और जहां तक मुझे पता है केन्द्रीय स्तर पर भी नहीं हो रही है।'   
2013 के विधानसभा चुनावों में मध्‍य प्रदेश की 230 सीटों में से कांग्रेस और बीएसपी को क्रमश: 36.38% और 6.29% वोट मिले थे। सत्‍ताधारी बीजेपी को 44.88 प्रतिशत वोट मिले थे। इस तरह बीजेपी को 165 सीटें, कांग्रेस को 58, बीएसपी को 4 और निर्दलीयों को तीन सीटों पर कामयाबी मिली थी।
इस बीच, मध्य प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रमुख माणक अग्रवाल ने कहा, 'गठबंधन करने के बारे में हमने किसी पार्टी का नाम नहीं लिया। हमारी पार्टी ने सिर्फ इतना कहा है कि कांग्रेस समान विचार वाली पार्टियों से मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में गठबंधन करने का प्रयास करेगी। हमने कभी बीएसपी का नाम नहीं लिया।'
सूत्रों के मुताबिक मध्‍य प्रदेश में कांग्रेस के साथ बीएसपी के गठबंधन नहीं होने का कारण यह माना जा रहा है कि दरअसल बीएसपी इस तरह कांग्रेस के साथ राज्‍यवार गठबंधन के पक्ष में नहीं है। वह जिन राज्‍यों में कमजोर है, वहां भी कांग्रेस के साथ सौदेबाजी कर गठबंधन के तहत चुनाव लड़ना चाहती है। इसका सीधा सा मतलब अधिक सीटों पर कामयाबी हासिल करना है।

ये भी पढ़ें :

अम्बाती रायुडू हुए इंग्लैंड दौरे से बाहर, अब ये खिलाडी खेलेंगे उनकी जगह

खबरें