रातभर सदन में सोए रहे भाजपा विधायक कुमारस्वामी की अग्निपरीक्षा आज
रातभर सदन में सोए रहे भाजपा विधायक कुमारस्वामी की अग्निपरीक्षा आज
19, Jul 2019,10:07 AM
TV100,

कर्नाटक में चल रहे सियासी ड्रामे का पटाक्षेप नहीं हो सका। कांग्रेस-जेडीएस सरकार का बहुमत परीक्षण होने से बृहस्पतिवार को स्थिति साफ होने की उम्मीद थी लेकिन भारी हंगामे के बीच स्पीकर ने बिना वोटिंग करवाए विधानसभा की कार्यवाही शुक्रवार तक स्थगित कर दी।

बीएस येदियुरप्पा ने कहा हमारे पास 105 विधायक हैं जबकि गठबंधन के पास 100 विधायक हैं। यह सौ प्रतिशत तय है कि सरकार विश्वास मत नहीं हासिल कर सकेगी।

सदन शुरू होने के बाद भी व्हिप पर चर्चा जारी रही। विश्वास प्रस्ताव पर देरी होते देख भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल वजूभाई वाला से मिलकर शाम तक विश्वास प्रस्ताव पर मतदान करवाने का निर्देश देने की मांग की। इसके बाद राज्यपाल ने स्पीकर को बृहस्पतिवार को ही विश्वास प्रस्ताव पर प्रक्रिया पूरी करवाने का निर्देश दिया।

इससे नाराज नेता प्रतिपक्ष और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने पार्टी के सभी विधायकों के रात भर सदन में ही धरना देने की घोषणा की। उन्होंने कहा, जब तक विश्वास प्रस्ताव पर फैसला नहीं होता हमारे विधायक सदन में रहेंगे।

इन सबके बीच, कर्नाटक के राज्यपाल वजूभाई वाला ने सीएम एचडी कुमारस्वामी को पत्र लिखकर शुक्रवार दोपहर 1:30 बजे तक बहुमत साबित करने को कहा है। वहीं, कांग्रेस और भाजपा दोनों ने बहुमत परीक्षण और व्हिप को लेकर सुप्रीम कोर्ट जाने का एलान किया है। 
 
इससे पूर्व गठबंधन के 16 विधायकाें के इस्तीफे के चलते संकट में आई 14 महीने पुरानी सरकार के मुखिया कुमारस्वामी ने कहा कि विधायकों के इस्तीफा देने से भ्रम की स्थिति बन गई है, जबकि सरकार बहुमत में है।

सीएम के बैठते ही येदियुरप्पा ने एक ही दिन में विश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग की मांग की। इस बीच, कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया ने व्यवस्था का प्रश्न उठाते हुए स्पीकर केआर रमेश कुमार से पहले व्हिप पर फैसला देने की मांग की। इस पर स्पीकर ने महाधिवक्ता से सलाह लेने की बात कहकर सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी।

ये भी पढ़ें :

पशु चोरी के शक में तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या:बिहार

खबरें